प्यार किस कदर होगा उसे, अपने माँ बाप से

एक लडका और लडकी दोनो आपस मे बहुत प्यार करते थे पर कुछ प्रोब्लम कि वजह से लडकी की शादी कहीँ और हो जाती है. …. तो लडका क्या कहता है…. … आज ‘दुल्हन’ के लाल जोडे मे, उसे उसकी ‘सहेलियाँ’ ने सजाया होगा, ••• मेरी ‘जान’ के गोरे हाथो पर, सखियाँ ने ‘मेंहन्दी’ को … Continue Reading

मंत्र जप का अर्थ

🥀मंत्रजप में जब अर्थ आवश्यक नहीं होता मंत्रजप के समय अर्थ की भावना और चिंतन भी आवश्यक है । साधारण स्थिति में यह स्वाभाविक रूप से भी चलता रहता है । उदाहरण के लिए, ॐ का जप करने पर निर्गुण-निराकार परमात्मा का स्मरण होता है, राम नाम जपने पर मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम की छवि मन … Continue Reading